सहयोग - कल्पना इंदा

एक-दूसरे का साथ देना सहयोग कहलाता है। हम आदमी को एक दूसरे की सहायता अथवा रास्ते दिखाने की जरूरत पड़ती हैं। हम उन कमियों को एक दूसरे का सहयोग प्राप्त कर दूर कर लेते हैं। सहयोग से ही हम कठिनाई पर विजय पा सकते हैं। सहयोग जीवन का आधार है। सहयोग एक सकारात्मक सामाजिक मकसद है।यह उतना ही महत्वपूर्ण है जितना किसी व्यक्ति को लक्ष्य तक पहुंचने के लिए प्रेरित करना।
      *योग करें या ना करें
   लेकिन जरूरत पड़ने पर
             दूसरों को
       सहयोग जरूर करें।* 
Kalpana Inda
Class VI
The Fabindia School
(Graphic by Krishnapal Singh of Class VI)

Comments

Happy Teachers Journal

Popular posts from this blog

What water would do? - Nibbrati Rathore

The World of Television - Simar Kaur